biodata kya hota hai

बायोडाटा क्या होता है? Biodata Kya Hota Hai पूरी जानकारी हिंदी में


दोस्तों, आप सभी का स्वागत है हमारे नए आर्टिकल में जिसमें आपको बायोडाटा से संबंधित जानकारियां प्राप्त होंगी। बायोडाटा नाम आपने अक्सर कई जगह सुना होगा इसीलिए इस आर्टिकल द्वारा हम जानेंगे की बायोडाटा क्या होता है?

यह कैसे लिखा जाता है और इसमें कौन-कौन सी जानकारियां शामिल होती है? क्योंकि बहुत बार हमें इसके बारे में कुछ खास जानकारी नहीं होती। तो आइए जानते है।

बायोडाटा क्या होता है?

साधारण भाषा में अगर हम कहें तो बायोडाटा हमारे जीवन व हम से संबंधित एक जानकारी है। जिसके अंदर हमारी पूरी बायोग्राफिकल और पर्सनल डिटेल होती हैं।


हम अपना बायोडाटा कम से कम 2 से 10 पेज के बीच में लिख सकते हैं। मुख्य रूप से बायोडाटा किसी व्यक्ति के बारे में विशेष तथ्यात्मक जानकारी प्रदान करता है। बायोडाटा किसी व्यक्ति के विभिन्न विवरणों के विषय में ज्ञान प्रदान करता है।

Resume क्या होता है? 5 मिनट में Resume कैसे बनाएं?

बायोडाटा के प्रकार:-

बायोडाटा मुख्यतः पांच प्रकार का होता है जो की इस प्रResume क्या होता है? 5 मिनट में Resume कैसे बनाएं?कार है:-

  • नौकरी हेतु बायोडाटा
  • शिक्षा संबंधी बायोडाटा
  • व्यक्तिगत बायोडाटा
  • चिकित्सा संबंधी बायोडाटा
  • शादी के लिए बायोडाटा

इन सभी विषय से संबंधित हम विभिन्न प्रकार के बायोडाटा लिख सकते हैं।

बायोडाटा को हिंदी में क्या कहते हैं?

बायोडाटा को हिंदी में ” आत्मवृत्त” या “जीवनी” कहते हैं। बायोडाटा के द्वारा हम किसी भी व्यक्ति के जीवन से संबंधित जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।


जैसा कि हम देख सकते हैं कि बायोडाटा 2 शब्दों से मिलकर बना है:- बायो+डाटा , जिसमें बायो का अर्थ “हमारे जीवन से” है और डाटा का अर्थ है “जानकारी”।

इसलिए यह कहना उचित होगा कि बायोडाटा किसी व्यक्ति के जीवन का “लेखा जोखा” या “संपूर्ण सार” है। जिससे व्यक्ति की महत्वपूर्ण जानकारी और विशेषताएं पता चलती है।

बायोडाटा कैसे लिखा जाता है? (Biodata Kaise Likha Jata Hai)

क्योंकि बायोडाटा हमारे जीवन से संबंधित है इसलिए इसमें निम्न प्रकार की जानकारियां सम्मिलित की जाती है:-

  • नाम
  • माता-पिता का नाम
  • जन्मतिथि
  • जन्म स्थान
  • लिंग
  • वैवाहिक स्थिति
  • रंग
  • धर्म
  • कद काठी
  • राष्ट्रीयता
  • अपने पेशे के बारे में
  • भाषा
  • अपना पता

इन जानकारियों के द्वारा हम नौकरी या शिक्षा के लिए अपना बायोडाटा लिख सकते हैं।

किसी व्यक्ति का बायोडाटा लिखने के लिए आपके पास ऊपर लिखित जानकारी होनी चाहिए। यह कुछ इस प्रकार से हो सकता है:-

biodata kya hota hai, bio data kya hai , biodata me kya kya likhe
Biodata Example Image

विवाह बायोडाटा कैसे लिखा जाता है? (Sadi ke liye biodata)

हमारे देश में विवाह के लिए भी बायोडाटा का प्रयोग किया जाता है ताकि विवाह योग्य लड़का या लड़की के विषय में उपयुक्त जानकारी प्राप्त कर सके। जिससे व्यक्ति विवाह हेतु सही साथी चुन सकें।

विवाह या शादी हेतु लिखे बायोडाटा में व्यक्तिगत जानकारी वे लक्षणों के विषय में बताया जाना चाहिए जोकि शादी योग्य व्यक्ति को आकर्षक लगे। जिससे इस इस बायोडाटा द्वारा शादी योग्य संभावित व्यक्ति पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सके।

इस बायोडाटा के लिए हमें निम्नलिखित जानकारियों की आवश्यकता होती है:-

  • सामान्य जानकारी जैसे नाम, जन्म स्थान, जन्मतिथि, जाति, पेशा, धर्म इत्यादि ।
  • रंग-रूप, वजन, लंबाई ,बालों व आंखों का रंग।
  • जीवन में शामिल रुचियां, शौक, विश्वास, धार्मिक, गैर-धार्मिक।
  • भविष्य के लिए आपके सपने और इच्छाएं।
  • इन सबके अलावा विवाह हेतु आप किसी व्यक्ति में कौन से गुण चाहते हैं उस विषय में भी आपको बताना चाहिए। जिससे आपको सही व्यक्ति की पहचान हो सके।

बायोडाटा का महत्व व विशेषताएं:-

बायोडाटा की आवश्यकता किसी व्यक्ति को उस समय होती है जब उसे किसी विभाग में नौकरी के लिए आवेदन देना हो या किसी संस्था में सदस्य के रूप में चयनित होना चाहता हो तब उसे अपने बारे में जानकारी बायोडाटा के माध्यम से देनी पड़ती है।

  • बायोडाटा किसी भी व्यक्ति की पहचान का स्रोत है क्योंकि इससे व्यक्ति की सही छवि उभर कर सामने आती है। इसलिए यह  ध्यान पूर्वक लिखा जाना चाहिए।
  • किसी भी व्यक्ति का बायोडाटा इस प्रकार लिखा होना चाहिए जिससे देखने वाले के लिए उसकी सकारात्मक व अच्छी छवि प्रस्तुत हो।
  •  बायोडाटा में केवल आवश्यकता पूर्वक जानकारी ही लिखनी चाहिए।
  • बायोडाटा में सभी जानकारी ईमानदारी पूर्वक लिखी होनी चाहिए। जिससे व्यक्ति की विशेषताओं का अच्छे से पता लगाया जा सके।
  • बायोडाटा के लिए प्रयोग होने वाले भाषा सरल और सहज होने चाहिए ताकि उसे देखने वाले को वह आसानी से समझ सके।

FAQ:-

बायोडाटा में क्या-क्या लिखा जाता है?

बायोडाटा में किसी व्यक्ति की निजी जानकारियां शामिल होती है जैसे कि नाम, पता, जन्मतिथि, जन्म स्थान, जेंडर, धर्म इत्यादि।

बायोडाटा कितने प्रकार का होता है?

बायोडाटा पांच प्रकार का होता हैं।

बायोडाटा की फुल फॉर्म क्या होती है?

बायोडाटा की फुल फॉर्म बायोग्राफिकल डाटा होती है।

फोन से बायोडाटा कैसे बनाएं?

प्ले स्टोर से बायोडेटा मेकर ऐप इंस्टॉल करें उसके पश्चात उसमें अपना बायोडाटा फॉर्म भर सकते हैं और उसे अपनी रूचि के अनुसार अलग-अलग डिजाइन प्रदान कर सकते हैं।

बायोडाटा को हिंदी में क्या कहते हैं?

बायोडाटा को हिंदी में “आत्मवृत्त” कहते हैं।

Conclusion:-

इस आर्टिकल द्वारा हमने बायोडाटा के विषय में जानकारी प्राप्त की है, अगर आपको बायोडाटा से संबंधित अन्य जानकारी चाहिए या आपको इस आर्टिकल से संबंधित कोई सुझाव देना हो तो नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके बता सकते हैं।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर सांझा करें।

जय हिंद, जय भारत।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.