apple kis desh ki company hai

Apple कहां की Company है? Iphone बनाने वाली कंपनी Apple के बारे में पूरी जानकारी


एप्पल किस देश की कंपनी है? Apple Kis Desh Ki Company Hai?

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब, आप सभी का हमारे इस आर्टिकल में बहुत-बहुत स्वागत है, आज के हमारे इस आर्टिकल का टॉपिक है एप्पल किस देश की कंपनी है? साथ ही साथ हम यह भी जानने की कोशिश करेंगे की एप्पल कंपनी का मालिक कौन है, इसका इतिहास क्या है, दोस्तों यह आर्टिकल बहुत ही मजेदार होने वाला है इसलिए आर्टिकल को आखिर तक जरूर देखिएगा, आज के समय में पूरी दुनिया में करोड़ों लोग एप्पल कंपनी के प्रोडक्ट इस्तेमाल करते हैं, लेकिन कई लोगों को अभी तक यह भी पता नही है कि एप्पल किस देश की कंपनी है, तो चलिए दोस्तों वक्त जाए ना करते हुए शुरू करते हैं हमारा यह आर्टिकल, और देख लेते हैं कि एप्पल किस देश की कंपनी है?

आज कौन सा त्यौहार है? आज है कुछ बहुत खास जानिए हिंदी में?


दोस्तों एप्पल कंपनी के बारे में आपने जरूर सुना होगा, शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसने एप्पल कंपनी के बारे में ना सुना हो, आज के समय में हर व्यक्ति का यही सपना होता है कि वह एक ना एक दिन आईफोन (iPhone) या एप्पल का कोई भी प्रोडक्ट जरूर खरीदें, इसके पीछे का कारण यह है कि एप्पल एक बहुत ही लोकप्रिय कंपनी है, इसकी पापुलैरिटी का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि लोग किसी भी एप्पल प्रोडक्ट के लॉन्च का इंतजार बड़ी ही बेसब्री से करते हैं, कंपनी अपने आईफोंस की वजह से सुर्खियों में बनी रहती है, एप्पल कंपनी आईफोन के अलावा और भी कई तरह के टेक गैजेट्स का निर्माण करती है, एप्पल कंपनी के फोन जिसे हम आईफोन कहते हैं, यह लोगों को बहुत ज्यादा पसंद है।

आज के समय में एप्पल दुनिया के टॉप स्मार्टफोंस ब्रांड्स में सबसे टॉप पर है, इस वक्त दुनिया में कई मोबाइल कंपनियां अच्छे मोबाइल पेश कर रही है लेकिन आईफोन की कई खूबियां इसे बाकी स्मार्टफोन 

से अलग बनाती है, एप्पल एक ऐसी कंपनी है जो आईफोन के सारे हार्डवेयर और मोबाइल में प्रयोग होने वाले सारे सॉफ्टवेयर खुद बनाती है, यह एंड्रॉयड स्मार्टफोन की तरह दूसरी अलग-अलग कंपनियों पर निर्भर नहीं है, आज के समय में पूरी दुनिया में करोड़ों लोग एप्पल कंपनी के प्रोडक्ट इस्तेमाल करते हैं लेकिन कई लोगों को अभी तक यह भी पता नही है की एप्पल किस देश की कंपनी है।

Apple Kis Desh Ki Company Hai?

दोस्तों अगर आप यह सोच रहे हैं कि एप्पल किस देश की कंपनी है तो आपको बता दें कि एप्पल अमेरिका देश की कंपनी है, एप्पल कंपनी का मुख्यालय कुपर्टिनो, कैलिफोर्निया में स्थित है, इससे यह साफ हो जाता है कि एप्पल एक अमेरिकी कंपनी है, एप्पल कंपनी की स्थापना स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनियाक और रोनाल्ड वेन द्वारा व्यक्तिगत कंप्यूटर किट ‘apple 1’ को बेचने के लिए की गई थी की गई थी, एप्पल कंपनी के संस्थापक स्टीव जॉब्स को पेनक्रिएटिक कैंसर था, जिसकी वजह से उन्होंने 5 अक्टूबर 2011 को दुनिया को अलविदा कह दिया।

सभी मोबाइल कंपनियों में एप्पल कंपनी टॉप पर आती है, एप्पल कंपनी आईफोन बनाने के अलावा और भी कई सारे गैजेट्स बनाती है जैसे की एप्पल टीवी, लैपटॉप, मैकबुक, आईपैड, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इत्यादि, यह कंपनी अपनी कड़ी मेहनत और सही निर्णयों से दिन प्रतिदिन तरक्की करती जा रही है, जब भी हम किसी अच्छे कैमरे वाले फोन की बात करते हैं तो हमारे सामने सबसे पहले आइफोन का ही नाम सामने आता है, इसका सबसे बड़ा कारण है कि एप्पल हमेशा क्वांटिटी के ऊपर क्वॉलिटी को तरजीह देता है, भले ही एप्पल के आईफोन महंगे हो पर एप्पल कभी भी अपने यूजर्स की सेफ्टी और सुरक्षा से समझौता नहीं करती, जब भी एप्पल का कोई प्रोडक्ट लॉन्च होने वाला होता है, लोग उस चीज पर हमेशा अपनी नजरें टिकाए रहते हैं, एप्पल के यूजर्स को हमेशा एप्पल से बहुत उम्मीदें रहती है, वो एप्पल पर बहुत यकीन रखते हैं और एप्पल भी अपने यूजर्स का यकीन कभी नहीं तोड़ता, इसीलिए आज एप्पल आसमान की ऊंचाइयों तक है।


एप्पल कंपनी मोबाइल की दुनिया में एक बहुत बड़ा नाम है, यह कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनी है, और सैमसंग के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी फोन निर्माता कंपनी है, एप्पल कंपनी के प्रोडक्ट अखबारों और टीवी चैनलों पर सुर्खियों में बने रहते हैं, एप्पल अपनी कमाई का अधिकतर हिस्सा क्वालिटी प्रोडक्ट और रिसर्च के लिए करती है, एप्पल के प्रोडक्ट्स प्रीमियम चीजों से बनते हैं, एप्पल कंपनी अपने ज्यादातर प्रोडक्ट्स अमेरिका में ही बनाती है और फिर उन्हें पूरी दुनियाभर में बेचा जाता है, एप्पल कंपनी दुनिया की चुनिंदा टेक कंपनियों में से एक हैं, आज के समय में एप्पल कंपनी में डेढ़ लाख से भी ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं, कंपनी कितनी अमीर है इस बात का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि एप्पल कंपनी के पास अमेरिकी सरकार से भी ज्यादा कैश मौजूद है, कंपनी का खुद का एक आईओएस ऑपरेटिंग सिस्टम भी है जिसे पूरी दुनिया में सब लोग सबसे सुरक्षित ऑपरेटिंग सिस्टम मानते हैं, एप्पल 1 ट्रिलियन डॉलर का मार्केट कैप तक पहुंचने वाली पहली अमेरिकी कंपनी है।

हालांकि एप्पल को अपने शुरुआती दिनों में बहुत सी परेशानियों को झेलना पड़ा था, एप्पल के सामने बहुत सी कठिनाइयां आई, एप्पल ने 1990 के दशक में बहुत सारी चीजें बनाई, जैसे कि एप्पल क्विकटेक डिजिटल कैमरा, एप्पल डिज़ाइन पवार्ड स्पीकर, एप्पल बानडई पिप्पिन वीडियो गेम कंसोल, पर यह सब एप्पल को उतनी सफलता नहीं दिला पाए जितनी कि एप्पल ने सोचा था, और यह बुरी तरह फ्लॉप हो गए, पर एप्पल उन कंपनियों में से नहीं है जो इतनी आसानी से हार मान जाए, एप्पल कंपनी ने कभी हार मानना तो सीखा ही नहीं, एप्पल कंपनी ने अपना पहला स्मार्टफोन आईफोन साल 2007 में लांच किया था, एप्पल ने इस साल (2021) में आईफोन 13 को लॉन्च किया, जिसके अंदर 4 मॉडल हैं- iPhone 13, iPhone 13 Mini, iPhone 13 Pro, iPhone 13 Pro Max, एप्पल कंपनी आईफोन 14 को अगले साल लॉन्च करेगी।

Apple का मालिक कौन है?

दोस्तों अगर आप यह जानना चाहते हैं की एप्पल कंपनी के मालिक कोन हैं तो आपका बता दें कि स्टीव जॉब्स ने अपने दो दोस्तों रोनाल्ड वेन, और स्टीव वोजनिएक के साथ 1 अप्रैल 1976 को एप्पल कंपनी की शुरुआत की थी।

स्टीव जॉब्स ने एप्पल कंपनी को तकनीकी क्षेत्र में जैसे कि  USB को स्टैंडर्ड बनाने, आईपॉड से गाने सुनने जैसी चीजों से उपलब्धियों की ऊंचाइयों तक पहुंचने में बहुत योगदान और मेहनत की, स्टीव जॉब्स एप्पल के मुख्य अधिकारी थे, इसके साथ ही वो एप्पल के संस्थापक में से एक थे, इसलिए एप्पल कंपनी के मालिक भी वही हुए, स्टीव जॉब्स को पेनक्रिएटिक कैंसर होने की वजह से उनकी 5 अक्टूबर 2011 को मृत्यु हो गई थी, लेकिन जब से स्टीव जॉब्स की मृत्यु हुई है तब से एप्पल कंपनी का कार्यभार टिम कुक संभाल रहे हैं, वर्तमान समय में एप्पल कंपनी के सीईओ टिम कुक ही हैं, टिम कुक एप्पल कंपनी के सबसे बड़े शरेधारकों में से एक हैं।

Apple Kaha Ki Company hai?

स्टीव जॉब्स ने अपने साथियों रोनाल्ड वेन और स्टीव वोजनिएक के साथ 1 अप्रैल 1976 को एप्पल कंपनी की शुरुआत की थी, दोस्तों आपको जानकर हैरानी होगी कि एप्पल कंपनी की शुरुआत घर के एक गैरेज से हुई थी, और आज यह दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है, स्टीव जॉब्स ने अपनी नई कंपनी बनाने को पूंजी जुटाने के लिए अपनी वॉक्सवैगन वैन को बेच दिया था, और स्टीव वोजनिएक ने अपने निजी Hewlett-Packard के कैलकुलेटर को बेच दिया था।

शुरू-शुरू में बाकी कंपनियों के कंप्यूटर थोड़े बड़े हुआ करते थे, उन कंप्यूटर पर काम करना बहुत मुश्किल होता था, इसलिए एप्पल कंपनी ने कम आकार वाले कंप्यूटर को लॉन्च करने की सोची, ताकी उन्हें दैनिक जीवन में आसानी से प्रयोग में लाया जा सके, रोनाल्ड वेन ने एप्पल कंपनी शुरू होने के थोड़े समय बाद ही अपने सभी शेयर स्टीव जॉब्स व वोजनिएक को मात्र 800 अमेरिकी डॉलर में बेचकर एप्पल कंपनी से अलग होने का फैसला किया, स्टीव जॉब्स एक सफल व बड़े बिजनेसमैन थे, एप्पल कंपनी आज जिस मुकाम तक है उसका श्रेय स्टीव जॉब्स को ही जाता है, स्टीव जॉब्स का 5 अक्टूबर 2011 को पेनक्रिएटिक कैंसर के कारण देहांत हो गया, उनकी मृत्यु के बाद टिम कुक ने एप्पल कंपनी का कार्यभार संभाला, वर्तमान समय में टिम कुक ही एप्पल कंपनी के सीईओ हैं।

12 दिसंबर 1980 को एप्पल ने अपना खुद का एक आईपीओ लॉन्च किया, उस समय इसकी कीमत 24 डॉलर प्रति शेयर थी, उसके बाद एप्पल एक सार्वजनिक कंपनी बन गई, जिसकी कीमत 2018 की एक रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान समय में 220 डॉलर प्रति शेयर से भी अधिक थी, साल 1984 में एप्पल कंपनी ने अपना पहला ऑपरेटिंग सिस्टम Macintosh लॉन्च किया, जिसके विज्ञापन के लिए 1.5 मिलियन डॉलर से भी ज्यादा का खर्चा आया था, इसे लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया।

1990 के दशक में एप्पल कंपनी ने बहुत सारे प्रोडक्ट बनाए लेकिन उसे नाकामी और निराशा हाथ लगी, लेकिन एप्पल कंपनी ने कभी हार नही मानी, एप्पल कंपनी की शुरुआत के पीछे का सबसे बड़ा मुख्य कारण था कंप्यूटर बनाना, और इसके साथ ही यह भी उद्देश्य था कि एप्पल कंपनी को आम आदमी अपने दैनिक जीवन में प्रयोग में ला सकें, साल 2007 में एप्पल कंपनी ने अपना पहला स्मार्टफोन, आईफोन लॉन्च किया था।

एप्पल कंपनी के राजस्व के बारे में जानकारी

साल 2021 में एप्पल कंपनी ने अपने राजस्व का लगभग एक तिहाई हिस्सा उभरते बाजारों से कमाया, वहीं इसी समय एप्पल कंपनी भारत और वियतनाम में अपना कारोबार दुगना करने में कामयाब रही, काउंटरप्वाइंट रिसर्च के अनुसार एप्पल कंपनी ने साल 2020 में 32 लाख से भी ज्यादा फोन बेचे।

एप्पल कंपनी 25 सितंबर, 2021 को समाप्त चौथी तिमाही में सालाना आधार पर 29 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 83.4 अरब डॉलर का राजस्व कमाने में कामयाब रही, इस तिमाही में एप्पल कंपनी की आय 20.55 अरब डॉलर थी, जबकि एक साल पहले तक इसी तिमाही तक एप्पल कंपनी की आय 12.67 अरब डॉलर थी, सितंबर 2021 में समाप्त वित्त वर्ष के समय एप्पल कंपनी की कुल शुद्ध बिक्री 365.8 अरब डॉलर थी, सितंबर 2021 की तिमाही में एप्पल भारत में सालाना आधार पर सबसे ज्यादा बढ़ने वाला ब्रांड बन गया, इस समय एप्पल कंपनी की वृद्धि 212% तक पहुंच गई, और भारत में प्रीमियर स्मार्टफोन के बाजार में एप्पल की हिस्सेदारी 44% से भी ऊपर तक पहुंच गई।

Apple Company Facts In Hindi

  • एप्पल कंपनी में काम करने वाला हर तीसरा आदमी भारतीय है,
  • एप्पल कंपनी हर 1 मिनट में 300000 डॉलर  से भी अधिक कमाती है,
  • एप्पल कंपनी अपने हर एक विज्ञापन में 9:41 का समय दिखाता है,
  • एप्पल कंपनी के लोकप्रियता का  अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते कि जापान में एक व्यक्ति का आईफोन खरीदने के लिए 7 महीने तक लाइन में खड़ा रहा,
  • एप्पल मैकबुक की बैटरी बुलेटप्रूफ होती है,
  • एप्पल के मालिक ने कंपनी से अपने कार्यकाल के अंतिम 15 सालों तक केवल 1 डॉलर यानि की 73 भारतीय रूपए सैलरी ली थी,

Conclusion)

तो दोस्तों कैसा लगा आपको हमारा यह आर्टिकल, इस आर्टिकल में हमने जाना कि एप्पल किस देश की कंपनी है, साथ ही साथ हमने यह भी जाना कि एप्पल कंपनी का मालिक कौन है, एप्पल कंपनी का इतिहास क्या है, एप्पल के बारे में और भी बहुत जानकारी हासिल की, दोस्तों हमारी हमेशा यही कोशिश रहती है कि आपके सामने सही और सटीक जानकारी विस्तारपूर्वक रखें, ताकि आपको आपके हर सवाल का जवाब मिल जाए, अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है और हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी अच्छी लगी है तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिएगा।

आशा करता हूं कि आपको सब कुछ सही समझ आया होगा और आपने अच्छे से जान लिया होगा कि एप्पल किस देश की कंपनी है, और अगर आपको अब भी कुछ समझ नहीं आया है या आपका कोई सवाल रह गया है तो आप आर्टिकल के नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बेझिझक हमसे पूछ सकते हैं, हम आपके कमेंट का जवाब देने की जल्द से जल्द कोशिश करेंगे, आज के लिए इतना ही काफी है, मिलते हैं किसी नए आर्टिकल में नए टॉपिक के साथ।

जय हिंद, जय भारत।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.