Cybercrime kya hota hai

Cybercrime Kya Hota hai Cybercrime Se Kaise Bache

Advertisements
Loading...

दोस्तों आज की पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि साइबर क्राइम से कैसे बचें और साइबर क्राइम क्या है, अगर आपके पास लिंक आते हैं या Fraud calls आती हैं तो सावधान हो जाएं इस पोस्ट को आखिर तक जरूर पढ़े हैं

दोस्तों क्या आपके पास भी आए दिन मैसेजेस आते रहते हैं जिसके अंदर कि आपको फ्रॉड लिंक मिलते हैं और आपको शक है कि अगर आप उन लिंक पर क्लिक करेंगे तो आपका अकाउंट हैक हो सकता है,
फ्रॉड कॉल्स और मैसेजेस से डरना लाजमी है क्योंकि आए दिन अखबारों में खबर आती रहती है कि फ्रॉड कॉल्स से किसी ने बैंक अकाउंट से पैसे निकाल लिए क्या यह सच में होता है जी हां दोस्तों अगर बात करें आपके बैंक अकाउंट की तो वहां सिर्फ एक ओटीपी से ही पैसे निकाले जा सकते हैं,

फ्रॉड कॉल्स से आपके बैंक अकाउंट को ही नहीं बल्कि आपका इंस्टाग्राम व्हाट्सएप फेसबुक जैसी किसी भी प्रकार की अकाउंट को हैक किया जा सकता है लेकिन यहां पर अगर आप थोड़ी सी समझदारी दिखाएंगे तो आपका अकाउंट पूरी तरह से सुरक्षित रहेगा अगर समझदारी की बात करें तो नीचे दिए गए कुछ टिप्स एंड ट्रिक्स को फॉलो करके आप अपने बैंक अकाउंट व्हाट्सएप इंस्टाग्राम और फेसबुक को सुरक्षित कर सकते हैं,

अगर फ्रॉड कॉल आए तो क्या करें?

cyber crime reporting portal how is cyber crime detected
दोस्तों अभी मेरे पास कुछ समय पहले ही एक फ्रॉड कॉल आई ,आप मेरी और ठग की कन्वर्सेशन पढ़िए और देखिए कि जिस तरह से मैंने अपना बचाव किया आप भी अपना बचाव कर सकते हैं,
मैं कॉल की रिकॉर्डिंग करना भूल गया था इसलिए यहां पर रिकॉर्डिंग तो नहीं दे सकता इसलिए आप नीचे दी गई कन्वर्सेशन को पढ़कर आसानी से समझ सकते हैं कि ठग क्या चाहता था और मैंने किस तरह से उसको चकमा देकर अपना बचाव किया,

मैं: हेलो

ठग: दीपक बोल रहे हैं क्या ?

मैं: जी हां, आप कौन?

ठग: जी मैं आपके बैंक से बोल रहा हूं हमने आपका एटीएम कार्ड ब्लॉक कर दिया है!

मैं: पर क्यों सर मेरे एटीएम में तो कोई दिक्कत नहीं थी और मैंने तो कभी ब्लॉक की रिक्वेस्ट नहीं डाली थी,

ठग: जी सर आपने तो रिक्वेस्ट नहीं डाली थी लेकिन अगर कुछ समय तक वेरिफिकेशन ना की जाए तो एटीएम ऑटोमेटेकली ब्लॉक कर दिया जाता है,

 मैं: तो सर अब मुझे क्या करना होगा?

ठग: जी यह कॉल सिर्फ आपको सूचना देने के लिए है अगर आप अपने एटीएम कार्ड को दोबारा चालू करवाना चाहते हैं तो या तो आप कल बैंक आ जाइए वहां पर हो सकता है कि आपको पूरा दिन लग जाए क्योंकि वेरिफिकेशन की प्रोसेस बहुत लंबी है या अगर आप चाहे तो मैं आपका कार्ड अभी ऑनलाइन भी स्टार्ट कर सकता हूं,

मैं: सर मेरे पास बैंक आने के लिए समय नहीं है मुझे कल कॉलेज भी जाना है अगर आप अभी ऑनलाइन एटीएम स्टार्ट कर सकते हैं तो कृपया अभी कर दें क्योंकि मुझे सुबह ही पैसे निकलवाने हैं,

ठग: जी सर हम आपके लिए ही तो यहां बैठे हैं आप बस अपना ओटीपी बता दीजिए मैं यहीं से आपका एटीएम कार्ड स्टार्ट कर दूंगा,

मैं: जी सर जरूर क्या आप बता सकते हैं कि आप कौन से बैंक से हैं, ( क्योंकि अगर कॉल सच में बैंक से होती तो बैंक वालों को पता होता है कि हमारा नाम अकाउंट नंबर मोबाइल नंबर क्या है और हमारे बैंक का नाम क्या है )

ठग: जी आपके ही जम्मू-कश्मीर बैंक से बोल रहा हूं,

मैं: लेकिन सर मेरा तो स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में अकाउंट है मैं तो आज तक जम्मू कश्मीर गया ही नहीं,

इतना कहने के बाद कॉल कट कर दी गई,
मैंने इसकी शिकायत स्थानीय पुलिस स्टेशन में भी दी, जो कि आपको भी करना है ताकि ठग पकड़ा जाए और दोबारा किसी के साथ ऐसी हरकत ना करें,

दोस्तों एक बात का ध्यान रखें कि बैंक वाले आपके पास किसी भी प्रकार की वेरिफिकेशन के लिए कभी कॉल नहीं करते और सबसे मुख्य बात की बैंक से आपको कॉल करके कभी भी ओटीपी नहीं पूछा जाएगा ओटीपी का मतलब होता है वन टाइम पासवर्ड अगर मैं उस बंदे को यानी कि ठग को अपने अकाउंट की डिटेल देता तो वह वहां से ऑनलाइन शॉपिंग वगैरा करता जिसका की ओटीपी मेरे पास आता ओटीपी एक वन टाइम पासवर्ड होता है यह वेरीफाई करने के लिए कि जो पैसे निकाल रहा है या जो शॉपिंग कर रहा है वह खुद अकाउंट का ओनर है अगर मैं ठग को ओटीपी आने की वन टाइम पासवर्ड बता देता तो मेरे अकाउंट से पैसे निकल जाते,

यहां पर ठग कई प्रकार के होते हैं कई तो आपकी फेसबुक इंस्टाग्राम या व्हाट्सएप हैक करने के लिए उतावले होते हैं तो कई बैंक अकाउंट से पैसे निकालने के लिए बैंक अकाउंट से पैसे निकालने वाले ठग मार्केट में फिलहाल ज्यादा देखने को मिल रहे हैं यह पहले तो व्हाट्सएप पर स्पिन लिंक शेयर करके लोगों का डाटा इकट्ठा करते हैं या किसी भी प्रकार से युद्ध का मोबाइल नंबर इकट्ठा करते हैं और फिर एक-एक करके सभी पर कॉल करते हैं अगर इनके पास यूथ से रिलेटेड प्रॉपर जानकारी ना हो तो यह चालाकी से उसी से सारी डिटेल्स ले लेते हैं अगर आप यहां से थोड़ी सी भी सावधानी बरतें गे तो आप एक होने से बच सकते हैं,

एक बात का हमेशा ध्यान रखें दोस्तों की अगर आप खुद कोई गलती ना करें तो आपके किसी भी अकाउंट को कोई हैक नहीं कर पाएगा या आपके अकाउंट में से कोई पैसे नहीं निकाल पाएगा,

Types of cyber crime साइबर क्राइम से बचने के उपाय!

How to prevent cyber crime
दोस्तों यहां मैं आपको कुछ टिप्स एंड ट्रिक्स देना चाहूंगा जिसकी मदद से कि आप किसी भी प्रकार की हैकिंग यानी कि cyber crime से बच सकते हैं अगर यहां पर आप थोड़ी सी सतर्कता और थोड़ी सी सावधानी दिखाएंगे तो आपका कोई भी अकाउंट हैक नहीं कर पाएगा या कोई भी बड़ा सा बड़ा हैकर आप की जानकारी नहीं ले पाएगा इसके लिए बस नीचे दिए गए कुछ टिप्स एंड ट्रिक्स का इस्तेमाल करें,

1.
जीमेल में दिए गए किसी भी link को ना खोलें जब तक आप को पता नहीं है कि वह लिंक किसने भेजा है या क्यों भेजा है यानी कि अगर किसी प्रकार का लिंक आया है तो हमें उसके बारे में पता होता है कि हमने किस जगह पर है इसकी मेल आईडी दी थी जिसकी वेरिफिकेशन के लिए यह link है लेकिन अगर आपको उसके बारे में कुछ भी पता नहीं है तो ऐसे लिंक्स को ना खोलें और अगर आपने लिंक खोल भी लिया है तो उसके अंदर किसी भी प्रकार की जानकारी ना दें,

2.
व्हाट्सएप में आए दिन हमारे पास लिंक्स आते रहते हैं जैसे कि अभी 2 दिन पहले मेरे पास एक लिंक आया था जिसके अंदर लिखा हुआ था कि शाओमी को इंडिया की नंबर वन कंपनी बनाने के लिए आप सभी का धन्यवाद लिंक खोलकर अपना मोबाइल नंबर इंटर करें आप स्वामी का आने वाला मोबाइल जीत जाएंगे,
इस तरह के किसी भी प्रकार के लिंग पर बिल्कुल भी भरोसा ना करें यहां पर आपका जानकारी ले ली जाएगी आप जो भी मोबाइल नंबर इंटर करेंगे उसके ऊपर जितने भी अकाउंट है उन को हैक करने की कोशिश की जाएगी और आपके पास calls मैसेजेस वगैरह किए जाएंगे,

3.
अगर आपके पास कॉल आती है और आपको कहा जाता है कि वह कॉल बैंक से है तो वहां पर किसी भी प्रकार का ओटीपी वगैरह उनको ना दें या अपनी किसी भी प्रकार की पर्सनल जानकारी बिल्कुल भी ना दें अगर आप वहां पर अपनी पर्सनल जानकारी देते हैं तो फिर तो पुलिस भी केस का कुछ नहीं कर पाएगी क्योंकि हैकर आप के बताए गए अकाउंट डिटेल्स और आपके द्वारा लिए गए ओटीपी की मदद से ऑनलाइन शॉपिंग कर लेते हैं या अपने अकाउंट में पैसा ट्रांसफर करके तुरंत अकाउंट से पैसा निकाल कर अकाउंट बंद कर देते हैं,

4.
अभी कुछ समय पहले ही मेरे पास फेसबुक पर एक लड़के के मैसेजेस आए जिसमें कि उसने एक अस्पताल में लेटी लड़की की फोटो मुझे भेजी और कहा कि यह मेरी बहन है जो कि कुछ समय से बहुत ज्यादा बीमार है इसके ऑपरेशन के लिए ₹100000 चाहिए थे जिसमें से की 10,000 कम पड़ गए हैं अगर आप पैसे भेज देंगे तो आपकी बहुत दया होगी यह भी एक प्रकार की ठगी होती है इसमें ठग आपको डॉक्टर तक से बात करवा सकता है लेकिन आपको इस प्रकार के किसी भी थक पर विश्वास नहीं करना है अगर आप यह पक्का करना चाहते हैं कि क्या यह सच है कि अस्पताल में कोई भर्ती है और ऑपरेशन के लिए पैसे कम पड़ गए हैं तो आप सीधे अस्पताल की वेबसाइट पर जाकर मैनेजर से कांटेक्ट कर सकते हैं या अगर आपके अस्पताल पास में ही पड़ता है तो आप अपने किसी जान पहचान वाले से भी कांटेक्ट कर सकते हैं लेकिन ऐसे फेसबुक पर किसी के कह देने पर किसी के पास पैसा ना भेजें,

Cybercrime cell में रिपोर्ट कैसे करें? Cybercrime Reporting Portal

दोस्तों क्या आपके पास फोन कॉल आई है या क्या आपके साथ किसी प्रकार का फ्रॉड हुआ है और आप साइबर सेल इंडिया में इसकी शिकायत देना चाहते हैं तो यह बहुत ही आसान है या आप इसकी ऑनलाइन पोर्टल पर भी जा सकते हैं जिसके लिए आपको यहां क्लिक करना होगा

> Cybercrime Reporting Portal


आपको साइबर सेल इंडिया की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा और यहां पर अपने डिटेल्स बनी होगी जैसे कि आपको बताना होगा कि आपके पास आपके साथ किस प्रकार की ठगी की गई है और आपको किस पर शक है,

अगर आपके पास किसी भी प्रकार की फ्रॉड कॉल आई है और आप अपनी चालाकी से बच निकले हैं तो भी आप साइबर सेल में इसकी शिकायत दे सकते हैं ताकि ठग दोबारा किसी के साथ ऐसा ना करें या दोबारा किसी के पास कॉल तक करने की हिम्मत ना करें,

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.