bharat ke rashtrapati ka naam

भारत के राष्ट्रपति कौन है ? शक्तियां वेतन और Bharat Ke Rashtrapati Ka Naam क्या है?


दोस्तों अगर आप जानना चाहते हैं कि भारत के राष्ट्रपति कौन है? (bharat ke rashtrapati kaun hai) bharat ke rashtrapati ka naam तो आप सही वेबसाइट पर पहुंचे हैं इस वेबसाइट पर हम आपको आजादी के बाद से रहे भारत के सभी राष्ट्रपतियों की सूची देंगे और साथ ही साथ आपको यहां पर भारत के राष्ट्रपति को मिलने वाला वेतन भी जानने को मिलेगा और अन्य सभी जानकारियों के लिए आर्टिकल को आखिर तक जरूर पढ़ें,

भारत में स्पष्ट रूप से देश का कार्यभार प्रधानमंत्री के हाथ में होता है हालांकि प्रधानमंत्री राष्ट्रपति की सभी शक्तियों का इस्तेमाल करता है प्रधानमंत्री के खुद के पास अधिक शक्तियां नहीं होती वह सिर्फ राष्ट्रपति की शक्तियों का इस्तेमाल करता है भारत जैसे देश के अंदर सारी शक्तियां राष्ट्रपति के हाथ में ही होती है इसीलिए ही राष्ट्रपति को प्रथम नागरिक का दर्जा दिया गया है।

Bharat Ke Rashtrapati

bharat ke rastrpati kaun hai

भारत के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी हैं

भारत के राष्ट्रपति की शक्तियां?

दोस्तों भारत के संविधान के अनुसार राष्ट्रपति के पास सारी शक्तियां तो होती है लेकिन व अपनी शक्तियों का इस्तेमाल खुद नहीं कर सकते, हालांकि भारत में राष्ट्रपति को प्रथम पुरुष का दर्जा दिया गया है यानी कि राष्ट्रपति भारत का सर्व प्रथम नागरिक होता है,


आपको यह जानकर हैरानी होगी कि भारत के राष्ट्रपति के पास ऐसी ऐसी शक्तियां होती है जो आप कभी सोच भी नहीं सकते क्या आपने कभी पहले सुना था कि भारत का राष्ट्रपति अगर चाहे तो किसी की फांसी की सजा को भी माफ कर सकता है,

यहां तक कि भारत का राष्ट्रपति देश के तीनों सेनाओं का सेनापति भी होता है देश की सुरक्षा की जिम्मेवारी सीधे राष्ट्रपति के कंधों पर होती है देश की सुरक्षा से जुड़े जो भी मसले हैं उन्हें राष्ट्रपति ही हल करते हैं,युद्ध या वित्तीय आपातकाल के माहौल में राष्ट्रपति संयुक्त राष्ट्र में राष्ट्रपति शासन भी लागू कर सकते हैं यानी कि राष्ट्रपति चाहे तो तानाशाह अभी बन सकते हैं लेकिन उनके तानाशाह बनने की शक्तियों पर बहुत सारी पाबंदियां हैं जैसे कि वह सिर्फ जो दिया वित्तीय आपातकाल या देश में अगर कोई बहुत बड़ा नुकसान हो रहा है तो ही तानाशाही शासन लागू कर सकते हैं जिसमें वह खुद तानाशाह जाने की पूरे देश के राजा होंगे फिर जो वह कहेंगे वही चलेगा उनके मुख से निकला हर एक शब्द कानून होगा,

दोस्तों आपराधिक मामले में अपराधी की माफी की अर्जी अगर सुप्रीम कोर्ट भी खारिज कर देता है तो वह राष्ट्रपति के पास माफी की अर्जी लगा सकता है और उसे अगर राष्ट्रपति स्वीकार करें तो उसे जो भी सजा होनी थी वह टल सकती है।

भारत के राष्ट्रपतियों की सूची

इस लिस्ट के माध्यम से आप देख सकते हैं कि देश के आजाद होने और अब तक के बीच कितने राष्ट्रपति रहे हैं और कौन-कौन किस समय तक रहे हैं,

नामकार्यकाल
डॉ. राजेंद्र प्रसाद (1884 – 1963)जनवरी 26, 1950 – मई 13, 1962
डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन (1888-1975)मई 13, 1962 – मई 13, 1967
डॉ. जाकिर हुसैन (1897 – 1969)मई 13, 1967 – मई 03, 1969
वराहगिरि वेंकटगिरि (1884 – 1980)(कार्यवाहक)मई 03, 1969 – जुलाई 20, 1969
न्यायमूर्ति मोहम्मद हिदायतुल्लाह (1905 – 1992)(कार्यवाहक)जुलाई 20, 1969 – अगस्त 24, 1969
वराहगिरि वेंकटगिरि (1884 – 1980)अगस्त 24, 1969 – अगस्त 24, 1974
फखरुद्दीन अली अहमद (1905 – 1977)अगस्त 24, 1974 – फरवरी 11, 1977
बी.डी. जत्ती (1913 – 2002)(कार्यवाहक)फरवरी 11, 1977 – जुलाई 25, 1977
नीलम संजीव रेड्डी (1913 – 1996)जुलाई 25, 1977 – जुलाई 25, 1982
ज्ञानी जैल सिंह (1916 – 1994)जुलाई 25, 1982 – जुलाई 25, 1987
आर. वेंकटरमण (1910 – 2009)जुलाई 25, 1987 – जुलाई 25, 1992
डॉ. शंकर दयाल शर्मा (1918 – 1999)जुलाई 25, 1992 – जुलाई 25, 1997
के. आर. नारायणन (1920 – 2005)जुलाई 25, 1997 – जुलाई 25, 2002
डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम (1931-2015)जुलाई 25, 2002 – जुलाई 25, 2007
श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल (जन्म – 1934)जुलाई 25, 2007 – जुलाई 25, 2012
श्री प्रणब मुखर्जी (1935-2020)जुलाई 25, 2012 – जुलाई 25, 2017
श्री राम नाथ कोविन्द (जन्म – 1945)जुलाई 25, 2017 से अब तक
स्रोत: इंडिया बुक – एक संदर्भ वार्षिक

राष्ट्रपति के वेतन एवं भत्ते (Bharat Ke Rashtrapati ki Salary)

दोस्तों साल 2017 से पहले राष्ट्रपति की तनख्वाह केवल डेढ़ लाख रुपए प्रतिमा थी जैसा कि आप सब जान चुके हैं कि राष्ट्रपति का पद देश का सर्वोच्च पद होता है तो उसके हिसाब से डेढ़ लाख तनख्वाह बहुत कम थी लेकिन अरुण जेटली जी की नई बजट रिपोर्ट में इस तनख्वाह को बढ़ाकर ₹500,000 कर दिया गया यानी कि 2017 के बाद भारत के राष्ट्रपति की तनख्वाह ₹500,000 प्रति माह टैक्स रहित है यानी कि उस पर टेक्स्ट भी नहीं रखता लगता,


इसी के साथ-साथ उन्हें बहुत सारी सुविधाएं फ्री में उपलब्ध करवाई जाती है जिनमें उनका निवास स्थान संचार के साधन तथा उनके वाहन शामिल है, राष्ट्रपति की सुरक्षा पर भी भारी खर्चा किया जाता है राष्ट्रपति की सुरक्षा में जो लोग शामिल होते हैं उनको भी स्पेशल वेतन और भत्ते दिए जाते हैं, इनके अलावा भी राष्ट्रपति को बहुत सारे वेतन और भत्ते दिए जाते हैं जो कि वह अपने निजी काम के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं,

दोस्तों अब आप जान गए होंगे कि भारत के राष्ट्रपति का नाम क्या है तथा भारत के राष्ट्रपति कौन है हमारे देश भारत में आजादी के बाद सबसे पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद रहे थे देश का राष्ट्रपति बन्ना एक बहुत बड़ी बात होती है यह अपने आप में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है जिसे डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने प्राप्त किया हमारे देश भारत को अब तक 14 राष्ट्रपति मिल चुके हैं जिनकी लिस्ट आप ऊपर देख चुके हैं अगर आपको आर्टिकल पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें,

Jai Hind Jai Bharat

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.